गूंगी लड़की और काला साया 💀 | Hindi horror story

Rate this post

Hindi horror story

  आलिया एक बहुत खूबसूरत लड़की थी लेकिन वो बोल नहीं सकती थी_ कुदरत ने उसकी बोलने की ताकत छीन ली थी, वो इतनी खूबसूरत थी कि जो भी उसे देखता तो तारीफ करते नहीं थकता था, आलिया अपने मां-बाप की इकलौती औलाद थी.. अभी उसकी उम्र 20 साल ही थी कि एक कार एक्सीडेंट में उसके मां-बाप की मौत हो गई और आलिया उस घर में बिल्कुल अकेली रह गई…

आलिया का साथ देने उसकी खाला उसके घर आकर रहने लगी_ वो आलिया से बहुत मोहब्बत करती थीं और उसे किसी कमी का एहसास नहीं होने देती थीं, आलिया को अपने मां-बाप की बहुत याद आती थी और वो अक्सर रातों में उन्हें याद करके रोया करती थी.. घर का सारा खर्चा खालू ने संभाल रखा था, उनका भी एक लड़का था जिसका नाम ” आफताब ” था…

एक दिन आलिया रात में लेटी सो रही थी कि तभी उसकी आंख दरवाजे के एकदम से खुलने और बंद होने से खुली, उसे ऐसा लगा जैसे किसी ने बहुत तेज दरवाजा खोलकर बंद किया है, वो उठ कर बैठ गई और दरवाजे को देखने लगी_ दरवाजा अभी भी हिल रहा था लेकिन वहांँ कोई नजर नहीं आ रहा था…

आलिया जल्दी से कमरे से बाहर निकली और इधर उधर देखने लगी_ लेकिन वहांँ तो हर तरफ खामोशी फैली हुई थी, वो अपनी खाला के कमरे में गई_ खाला भी लेटी सो रही थीं, आलिया ने उन्हें जगाना मुनासिब ना समझा और अपना भ्रम समझकर फिर से अपने कमरे की तरफ आने लगी_ लेकिन तभी उसकी नजर किचन पर पड़ी तो उसके होश उड़ गएं_ उसे किचन में किसी चीज का काला साया हवा में उड़ता नजर आया.. आलिया ये देखकर बेहोश हो गई…

जब उसे होश आया तो दिन के 11:00 बज रहे थे_ खाला उसके पास बैठी थी और उससे पूछ रही थीं कि आलिया तुम्हें रात में क्या हो गया था ?_ तुम सुबह मुझे किचन के पास बेहोश पड़ी मिली थीं “

आलिया की ये हालत देखकर खाला भी बहुत परेशान थीं लेकिन आलिया ने उन्हें कुछ नहीं बताया और इशारे से कह दिया कि मुझे चक्कर आ गया था इसीलिए मैं बेहोश होकर गिर पड़ी थी.. खाला ने उसे दूध देते हुए कहा : बेटी ! ये दूध पी लो कुछ ताकत आ जाएगी_ शायद तुम अपने मां बाप को बहुत याद करती हो इसीलिए तुम कुछ कमजोर होती जा रही हो “.. खाला ने आलिया का सर अपने कंधे पर रखते हुए कहा, ..” बेटी ! परेशान ना हो, सब ठीक हो जाएगा मैं तुम्हारा दर्द समझ सकती हूँ…”

अगली रात फिर से आलिया को महसूस हुआ जैसी कोई उसके पीछे खड़ा है और उसके बालों में हाथ फेर रहा है_ आलिया उठना चाहती थी लेकिन उसे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने उसको जकड़ रखा है.. उसने बहुत ताकत लगाई और उठकर बैठ गई_ आलिया को फिर से वही काला साया कमरे में घूमता नजर आया और फिर खिड़की से बाहर निकल गया…

ये सब देखकर आलिया बहुत डर गई, उसके सारे जिस्म से पसीना निकल रहा था और वो थर-थर कांपे जा रही थी.. शायद वो शैतानी साया आलिया के पीछे पड़ गया था..

आलिया जब भी शीशे के सामने खड़ी होती है उसे अपने पीछे वही काला साया खड़ा नजर आता था, जब भी वो नहाकर बाहर निकलती और खिड़की के पास खड़े होकर अपने बाल सुखाने लगती तो उसे महसूस होता जैसे पीछे से कोई उसके बालों में हाथ फेर रहा है, वो बहुत डरने लगी थी लेकिन उसने अभी तक किसी को कुछ भी नहीं बताया था_ इसी तरह एक महीना गुजर गया…

एक रात आलिया को बहुत तेज प्यास लगी और वो अपने बिस्तर से उठकर किचन में चली गई_ गिलास में पानी भरा और पीने लगी_ तभी उसकी नजर सामने बाथरूम की छत पर पड़ी उस पर वही काला साया बैठा हुआ था _ उसकी हरी हरी आंखें_ नुकीले पंजे और बहुत डरावनी शक्ल थी, ये देखकर आलिया के हाथों से पानी का गिलास छूटकर जमीन पर गिरा, गिलास गिरने की आवाज सुनकर खाला अपने कमरे से बाहर आई तो देखा कि आलिया किचन में बेहोश पड़ी है..

खाला उसे उठाकर कमरे में ले आई और अपने पति को फोन करके कहने लगी कि आप जल्दी से घर आ जाइए आलिया की हालत कुछ ठीक नहीं है_ लेकिन पति ने कहा कि मैं तो दिल्ली में कुछ जरूरी काम से फंसा हुआ हूँ_ तुम आफताब को अपने पास बुला लो_ वो भी घर में अकेला परेशान होता है..

दोपहर के वक्त घर की घंटी बजी, आलिया ने जाकर दरवाजा खोला तो एक बहुत ही खूबसूरत नौजवान लड़का उसके सामने खड़ा था, आलिया उसे पहचानती थी_ ये आफताब था.. आलिया ने इशारे से उसे अंदर आने को कहा, खाला भी आफताब को देखकर बहुत खुश हो गईं क्योंकि वो भी अपने लड़के से दो महीने के बाद मिल रही थी_ खाला का घर दिल्ली में था और आलिया लखनऊ में रहती थी…

खाला ने शाम के वक्त आलिया को अपने कमरे में बुलाया और उससे पूछने लगी कि बेटी ये दो महीनों से तुम्हारे साथ क्या हो रहा है ?_ मुझे पता है कि तुम कुछ परेशान सी रहती हो लेकिन मुझे बता नहीं पा रही हो… ये सुनकर आलिया की आंखों से आंसू बहने लगे_; उसने खाला को इशारे से एक कागज- कलम लाने को कहा, आलिया अपनी खाला को सब कुछ बताना चाह रही थी… खाला दूसरे कमरे में कागज- कलम लेने चली गई..

अचानक दूसरे कमरे से खाला की बहुत तेज चीखने की आवाज आई, आफताब छत पर कुर्सी डाले बैठा हुआ था, आवाज सुनकर वो भी नीचे दौड़ता हुआ आया_ आलिया भी उस कमरे में पहुंच चुकी थी_ कमरे में खाला जमीन पर गिरी पड़ी थी और उनके पैर की हड्डी टूट चुकी थी…

⭐⭐⭐

डॉक्टर ने पैरों पर प्लास्टर करते हुए कहा कि इनको ठीक होते होते दो महीनें लग जाएंगे_इतने दिनों तक आपको व्हीलचेयर पर ही रहना है..” खाला ने आलिया को बताया : बेटी ! मैं गिरी नहीं थी बल्कि किसी ने मुझे पीछे से धक्का दिया था..”

आलिया समझ गई थी कि ये सब उसी काले साये का काम है वो नहीं चाहता है कि मैं किसी को भी उसके बारे में बताऊं.. वो एक बहुत खौफनाक शैतानी साया था जो आलिया के पीछे पड़ गया था, आलिया अपनी खाला के पास लेटी हुई थी और उनके बालों में हाथ फेर रही थी, फिर पता नहीं कब उसे भी नींद आ गई…

अगले दिन आफताब ने आलिया को छत पर अकेले में बुलाया और कहने लगा : आलिया ! मुझे मम्मी ने तुम्हारे बारे में सब कुछ बता दिया है कि तुम दो महीनों से कुछ परेशान सी रहती हो_ कल मम्मी को भी किसी ने इस घर में धक्का देकर गिरा दिया था_ मुझे तो लगता है कि इस घर में कोई शैतानी आफत है जो तुम्हें और मम्मी को परेशान कर रही है, मैं तुम्हारी जुबानी सुनना चाहता हूंँ…

आफताब भी एक 24 साल का खूबसूरत नौजवान लड़का था, वो आलिया से बराबर पूछ रहा था कि तुम क्यों इतना परेशान रहती हो.. आलिया ने आफताब से उसका मोबाइल मांगा और फिर उसमें कुछ टाइप करने लगी, 2 मिनट तक कुछ टाइप करने के बाद आलिया ने वो मोबाइल आफताब को पकड़ा दिया…

आफताब जैसे-जैसे वो टाइप मैसेज पढ़ रहा था उसके माथे से पसीना आता जा रहा था, आलिया ने उसे सब कुछ बता दिया था कि इस घर में एक काला साया है जो उसे रोजाना परेशान करता है और मैंने जब खाला को ये बात बताना चाही तो उस साये ने खाला को भी धक्का देकर गिरा दिया और उनकी हड्डी टूट गई… ये पढ़कर आफताब ने आलिया के सर पर हाथ रखा और वो सिसक- सिसक कर रोने लगी_ आफताब ने आगे बढ़कर आलिया को गले से लगा लिया और कहने लगा : ” तुम परेशान ना हो, मैं सब ठीक कर दूंगा..”

इतना कहकर आफताब उठ खड़ा हुआ और आलिया से कहा कि मैं शाम को देर से घर आऊंगा_ मैं तुम्हारे लिए अपने एक दोस्त से मिलने जा रहा हूंँ_ तुम परेशान ना हो, मैं इस मुसीबत का कोई हल लेकर ही वापस आऊंगा…

आफताब एक मौलवी साहब के पास पहुंचा और उन्हें सारी कहानी सुना दी, मौलवी साहब भी ये सुनकर हैरान रह गएं और आफताब से कहा कि बेटा ! ये किसी जिन्नात का साया है जो आलिया की खूबसूरती की वजह से उसके पीछे लग गया_ अब इसका एक ही हाल है कि आलिया की शादी कर दी जाए…

मौलवी साहब ने कहा : बेटा! मुझे यही मुनासिब लगता है कि तुम ही आलिया से शादी कर लो क्योंकि तुम अभी जब उसका इतना ख्याल रखते हो तो शादी के बाद शायद तुम उसका बहुत ज्यादा ख्याल रखोगे_ बेटा ! आलिया बेचारी एक बिन मां बाप की यतीम बच्ची है उसका कोई सहारा नहीं है तुम उसका सहारा बन जाओ..

ये बात सुनकर आफताब भी मुस्कुरा दिया क्योंकि वो भी आलिया को बहुत पसंद करता था.. उसने बाहर आकर व्हाट्सएप पर एक मैसेज टाइप किया और आलिया को भेज दिया, आलिया अपने कमरे में बैठी मोबाइल ही देख रही थी कि उसके नंबर पर आफताब का मैसेज आया तो उसने वो मैसेज खोलकर पढ़ा, आफताब ने उसमें लिखा था कि मौलवी साहब ने तुम्हारी परेशानी का हल ये बताया है कि तुम्हारी शादी करा दी जाए तो वो जिन्नात साया तुम्हारा पीछा छोड़ देगा_ और आलिया मैं खुद ही तुमसे शादी करना चाहता हूंँ..

मैसेज पढ़कर आलिया एक मिनट के लिए तो हैरान बैठी रही, लेकिन फिर मुस्कुराते हुए उसने मैसेज टाइप किया कि पहले खाला की मर्जी मालूम कर लो..! इधर से आफताब ने मुस्कुराते हुए मैसेज का जवाब दिया कि अम्मी को मैं मना लूंगा_ सिर्फ तुम्हारी हांँ होनी चाहिए_ क्या तुम राजी हो..?

आलिया ने मुस्कुराते हुए मैसेज में लिखा कि अगर मैं मना कर दूं तो..? आफताब ने आगे से मैसेज भेजा कि अगर तुम मना भी कर दो तब भी मैं तुम ही से शादी करूंगा क्योंकि मैं बचपन से तुम्हे बहुत पसन्द करता हूंँ..

शाम को जब आफताब घर वापस आया तो आलिया उससे नजर नहीं मिला पा रही थी, आलिया ने आज उसके लिए बिरयानी बनाई थी_ बिरयानी खाते हुए आफताब ने कहा : आलिया ! बिरयानी बड़े मज़े की बना लेती हो.. आलिया मुस्कुराते हुए खाला के पास चली गई…

आफताब को समझ नहीं आ रहा था कि वो अपनी मम्मी को कैसे बताएं कि वो आलिया से शादी करना चाहता है..? लेकिन तभी उसके दिमाग में एक तरकीब आई और उसने मम्मी से जाकर कहा : मम्मी ! सुबह मैं एक साहब को आप लोगों से मिलाने लाऊंगा, वो मेरे बहुत खास मेहमान हैं.. मम्मी ने कहा ठीक है बेटा..!

सुबह आफताब उन्ही मौलवी साहब को घर ले आया, घर के अंदर कदम रखते ही मौलवी साहब ने आफताब की मम्मी से कहा कि इस घर में कोई शैतानी बला है और फिर अंदर आकर मौलवी साहब ने आफताब की अम्मी को सारी बातें बता दी और कहा कि आप आलिया और आफताब की शादी करा दें इस तरीके से वो मुसीबत खत्म हो जाएगी..

ये सुनकर मम्मी भी मुस्कुरा दी और आगे से जवाब दिया कि मैंने तो पिछले 5 सालों से ये बात सोच रखी थी कि आलिया मेरी बहू बनेगी_ मुझे उससे अच्छी बहू सारी दुनियाँ में कहीं नहीं मिलेगी..

अगले हफ्ते आलिया और आफताब का निकाह पढ़ा दिया गया, उन दोनों की जिंदगी खुशियों से भर चुकी थी_ आफताब उसका बहुत ख्याल रखता था लेकिन वो साया अभी भी आलिया को नजर आता रहता था, कई महीने इसी तरह गुजर गएं…

एक दिन आफताब ऑफिस से वापस घर आ रहा था कि अचानक रास्ते में एक कार से उसका एक्सीडेंट हो गया, उसके पैरों में बहुत चोट लगी और उसे अस्पताल पहुंचा दिया गया.. आलिया उसके पास बैठी रो रही थी, वो समझ गई थी कि ये उसी साये का काम है_ क्योंकि वो साया अक्सर आलिया से कहा करता था कि ” आफताब से दूर लेटा करो_ वरना मैं आफताब को जान से मार डालूंगा…

आफताब की हालत दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही थी उसके हाथ पैरों में बहुत ज्यादा दर्द होता था, आलिया उन मौलवी साहब के पास गई और सबकुछ बता दिया.. मौलवी साहब ने कहा : बेटी ! मुझे लगता है कि वो जिन्नात साया तुम्हारे बालों को पसंद करता है इसीलिए देखो आज तक उसने तुम्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचाया सिर्फ तुम्हारे बालों में आकर हाथ फेरा करता है_ इसलिए अब तुम्हारा फैसला…?

आलिया मौलवी साहब की बातें समझ चुकी थी, वो घर वापस आई और रात 12:00 बजे दुल्हन वाले कपड़े पहन कर तैयार हो गई, वो बहुत खूबसूरत लग रही थी, आफताब और खाला दोनों सो रहे थें, आलिया जाकर शीशे के सामने खड़ी हो गई तभी उसे अपने पीछे वही काला साया नजर आया_ वो उसे देख देख कर मुस्कुरा रहा था और अगले ही पल वो आलिया के बालों में हाथ फेरने लगा…

तभी आलिया ने एक कैंची उठाई और अपने बालों को काटना शुरू कर दिया, वो साया उसके पीछे खड़ा रो-रोकर कह रहा था : आलिया! अपने बालों को मत काटो_ ये मुझे बहुत पसंद हैं, लेकिन आलिया बराबर अपने लंबे लंबे सुनहरे बालों को काटती जा रही थी…

आलिया ने अपने सारे बाल काट डालें और सिर्फ एक बार बालिश्त के बराबर बाल बाकी रखें, आलिया को अभी भी वो सिसकियां अपने पीछे से सुनाई दे रही थी…

अगले ही दिन से आफताब की तबीयत भी सही होने लगी, और आलिया को भी वो साया दिखना बंद हो गया… आफताब ठीक हो चुका था, घर में फिर से वही खुशियां वापस लौट आईं थीं…

आज इस बात को गुजरे 4 साल हो चुके हैं_ आलिया अपने आफताब के साथ बहुत खुश है, उनका एक लड़का भी है जिसका नाम उन्होंने ” अकमल ” रखा है.. आलिया ने इन चार सालों में कभी भी अपने बाल नहीं बढ़ने दिये…

गूंगी लड़की और काला साया 💀 | Hindi horror story



Read more :-

Leave a Comment