खौफनाक घर की कहानी 😱- Horror House Story in Hindi

5/5 - (4 votes)

horror story in hindi

   हम लोग उन दिनों बहुत परेशान थे बात यह थी कि मालिक मकान ने हमें घर खाली करने का नोटिस दे दिया था मेरे पिता सरकारी नौकरी करते थे उनकी तनख्वाह बहुत कम थी बस घर का गुजारा हो जाता था, हम लोग इस घर में पिछले 15 सालों से रह रहे थे,

मेरी मम्मी की ख्वाहिश थी कि हम किसी बहुत अच्छे से घर में जाकर रहे, लेकिन मेरे पिता की तनखाह बहुत कम थी इसलिए हम लोग किराए के घर पर रहते थे ,

जबसे मालिक मकान ने घर खाली करने का नोटिस दिया था तब से रोजाना मैं अपने पिता के साथ हर सुबह गाड़ी पर बैठकर शहर में किसी अच्छे घर की तलाश में निकलते थे हमारी यह कोशिश होती थी कि कम किराए के ऊपर कोई अच्छा और खूबसूरत सा घर मिल जाए..

बहुत तलाश पर भी हमको ऐसा घर ना मिल सका क्योंकि जो अच्छा घर होता था उसका किराया बहुत ज्यादा होता था, और जो कम किराए वाले घर थे वह बिल्कुल छोटे हुआ करते थे जिनमें रहना हमारे लिए बहुत मुश्किल था..

short horror story in hindi,

मेरे पिता के एक मालदार दोस्त थे जब उनको मालूम हुआ कि हमको किसी घर की जरूरत है तो उन्होंने मेरे पिता जी से कहा कि मेरे एक दोस्त का बंगला खाली पड़ा है वह चाहता है कि कोई ऐसी फैमिली मिल जाए जो उसके बंगले की देखभाल कर सकें और उसे साफ सुथरा भी रखे, क्योंकि वह अमेरिका में रहता है और इंडिया बहुत कम आता है..

अगले दिन हम वह बंगला देखने चले गए वह बहुत ही खूबसूरत बंगला था हमने ख्वाबों में भी नहीं सोचा था कि हमको ऐसे घर में रहने का मौका मिलेगा,

मेरी मम्मी ने जैसे ही वह बंगला देखा तो फौरन पिता से कहा कि आप अपने दोस्त से कह दीजिए कि हम इस बंगले में रहने के लिए तैयार हैं_ और हम इस बंगला की अच्छे से देखभाल करेंगे, आप इसकी फिक्र ना करें…

पिताजी को उस बंगले में रहना पसंद नहीं था क्योंकि वह आबादी से बहुत दूर था और वहां आस-पड़ोस में भी कोई नहीं रहता था, लेकिन मम्मी की जिद पर पिताजी को अपने दोस्त के सामने हामी भरनी पड़ी, और हम अगले दिन अपना सारा सामान लेकर उस बंगले में शिफ्ट हो गए, हम लोग उस घर में बहुत खुश थे इसी तरह कई महीने गुजर गए..

village horror story in hindi

यह पहला हादसा था कि जब मेरी सबसे छोटी बहन बाथरूम में नहा रही थी और उसके जिस्म पर साबुन लगा हुआ था कि अचानक पानी आना बंद हो गया, उसने दरवाजे से मम्मी को आवाज दी मम्मी दौड़ती हुई आई तो बहन ने कहा मम्मी नलकी से पानी नहीं आ रहा है, मम्मी ने दूसरी जगह से बाल्टी में पानी भर कर के दे दिया.. वह नहा कर के बाहर निकली,

मम्मी ने बाथरूम में जाकर नलकी खोलकर देखा तो उसमें से तो बहुत तेज पानी आ रहा था, मम्मी ने बहन को डांटा कि तुम को नलकी खोलना भी नहीं आता..

मम्मी ने नलकी बंद की और बाथरूम से बाहर आने लगी, अचानक नलकी खुद-ब-खुद खुल गई और उसमें से पानी बहने लगा, मम्मी बहुत हैरान हुई : “यह कैसे हो गया..? अंदर जाकर फिर से उसे बंद करने की कोशिश की मगर नलकी बंद नहीं हुई, फिर मम्मी ने नीचे से नलकी का वाल ही बंद कर दिया और पानी आना बंद हो गया…

horror story in hindi written

किसी ने इस पर ध्यान भी नहीं दिया और सब अपने काम में बिजी हो गए, दो-चार दिन बाद मैं बाथरूम में मुंह धो रहा था कि नल बंद हो गया। मैंने घर के हर नल की जाँच की लेकिन कहीं से भी पानी नहीं आ रहा था। मैं दूसरे बाथरूम से हैरान और परेशान बाहर निकलने लगा कि अचानक नल अपने आप खुल गया और पानी तेजी से निकलने लगा, जब मैं उसे बंद करने के लिए मुड़ा तो नल बंद था।

मैं समझ नहीं पा रहा था कि आखिर इस घर का क्या मामला है मैंने अपनी मम्मी को जाकर सब कुछ बताया तो मम्मी ने भी कहा बेटा मेरे साथ भी रोजाना इस तरह का कुछ हादसा होता है मुझे लगता है इस घर में कोई ऐसी चीज रहती है जो हमको परेशान करती हैं..

यह सुनकर मेरी छोटी बहन बोल पड़ी : “जिन्नात होंगे…”, छोटी बहन बोलती रही कि ” मम्मी मैं मजाक नहीं कर रही हूं, मुझे शक हो रहा है कि इस घर में कुछ ऐसी चीजें हैं, अभी सुबह जब मैं चाय बनाने जा रही थी तो जो घर की बिल्ली किचन की तरफ देख कर अजीब से गुर्रा रही थी जैसे किसी को देखकर कुछ कह रही हो और उस वक्त किचन में कोई नहीं था…

real horror story in hindi,

अगली सुबह मैं चाय लेने किचन में गया और देखा कि बिल्ली किचन के दरवाजे के पास खड़ी गुर्रा रही थी, उसके बदन के एक-एक बाल खड़े थे, उसकी पूँछ फूली हुई थी और वह ऐसे गुर्रा रही थी जैसे किसी से डर रही हो, मैंने इधर-उधर देखा लेकिन कुछ नहीं दिखा…

छोटी बहन किचन में खड़ी ये सब देख रही थी। मुझे देख कर बोली : “भैया ! देख रहे हो ना, बिल्ली कैसे गुर्रा रही है, क्या यहां आपको आसपास कोई नजर आ रहा है..?

मैं समझ गया था कि इस घर में कुछ है… दो-चार दिन सुकून से गुजरे, मैं लाँन में बैठा हुआ था, शाम का वक्त था, अचानक मेरे सामने एक सांप आ गया, मैंने डर के मारे भागने की कोशिश की, लेकिन अजीब बात यह थी कि वो सांप किसी के हाथ में था, लेकिन वह हाथ किसका था यह नजर नहीं आ रहा था, वह डरावना हाथ सांप को मेरे चारों तरफ घुमा रहा था, मैं डर के मारे भागने की कोशिश करता लेकिन मैं इसकी हिम्मत नहीं कर पा रहा था..

diwali horror story in hindi

उसी वक्त पिताजी आ गए, मुझे डरा हुआ देख मुझसे पूछा बेटे क्या हुआ…? मैंने कहा : ” पिता जी उधर सांप है.., पिताजी ने इधर-उधर देखा : कहाँ सांप है..? मुझे नजर नहीं आ रहा..

मुझे वह हाथ बराबर नजर आ रहा था जो सांप को मेरे चारों तरफ घुमा रहा था, लेकिन मेरे पिताजी उस सांप को नहीं देख पा रहे थे, मैं डर की वजह से बेहोश हो गया, जब मुझे होश आया तो मैंने घर में जिद बना ली कि हम अब इस घर में नहीं रहेंगे, इस घर में डरावनी आत्माएं हैं..

मैंने उठ कर सामान पैक करना शुरू कर दिया और मम्मी से कहा कि हम जितना जल्द हो सके इस घर को छोड़ देंगे मम्मी भी मेरी बात पर राजी हो गई,

सुबह 10:00 बजे हम लोग सामान पैक कर रहे थे घर छोड़ने की पूरी तैयारी कर रहे थे कि अचानक घर के दरवाजे पर एक औरत अपने लड़के के साथ आती हैं और मम्मी को बुलाकर उनसे पूछती हैं कि हम इस घर में रहना चाहते हैं लोग कहते हैं कि इस घर में आत्माएं रहती है.. क्या यह सच है..?

उस औरत ने बताया कि हमने सुना है कि इस घर में कोई 1 हफ्ते से भी ज्यादा नहीं रुक पाता है और आप लोग तो 5-6 महीने से यहां पर है, तो मुझे लगता है कि यह घर बिल्कुल सही है, यहां कोई आत्मा नहीं है..आपका इसके बारे में क्या ख्याल है…?

अभी मम्मी उसको कोई जवाब देती कि अचानक छोटी बहन दौड़ती हुई बाहर आती है उसने चीखते हुए मम्मी से कहा : “मम्मी ! सारे नलकों से खून आ रहा है..! मम्मी अंदर भागती हुई गई, किचन के बेसिन में खून भरा हुआ था, घर का जो नलका खोला जाता उसमें से खून आ रहा था यह देखकर सबका बुरा हाल हो गया..

हमने उसी दिन उस खूबसूरत घर को छोड़ दिया..

Real Horror story



Read more :-

Leave a Comment