जामुन का पेड़ – सच्ची डरावनी कहानी😱 | Horror Story in Hindi

Rate this post

जामुन का पेड़ – सच्ची डरावनी कहानी😱 | Horror Story in Hindi

Horror Story in Hindi

   ये काफी पुरानी बात है जब हम सभी दोस्त शाम को पड़ोस में इकट्ठा होते थे, तो हम हर शाम वाली पार्टी करते थे..

एक दिन हम खाना खाकर घर से निकले तो दोस्तों ने कहा आज गुरुवार है आज का दिन भूत प्रेत वाला दिन है… यह सुनकर मैं हंस दिया नदीम ने मेरी तरफ गुस्से से देखा और कहा मैं मजाक नहीं कर रहा हूं, ये सच है… यह जो गांव के बाहर खेतों में जामुन का पेड़ लगा हुआ है उस पर आज के दिन भूत और जिन्नात आते हैं, अगर तुमको यकीन नहीं होता तो तुम लोग मेरे साथ चल कर देख सकते हो, क्योंकि मैं रातों में खेतों में काम करता हूं तो मुझे कई बार नजर आए हैं…

हम सब लोग राजी हो गए और रात में उस जामुन के पेड़ के पास जाने के लिए तैयार हो गए,

हम पांच दोस्त थे जब रात के 9:00 बजे तो हम लोग अपने उसी दोस्त के साथ भूत और जिन्नात देखने के लिए खेतों में निकल गए, रात बहुत काली होती जा रही थी इसलिए हमें डर भी लग रहा था, अभी हमें चलते हुए 10-15 मिनट ही गुजरे थे कि एक खेत से किसी बकरी के बच्चे की बोलने की आवाज आई..

हम में से एक दोस्त ने कहा : क्या तुम लोग भी बकरी के बच्चे की आवाज सुन रहे हो..? हम लोगों ने हामी में सर हिलाया कि हांँ हमें भी आवाज सुनाई दे रही है, शायद किसी की बकरी का बच्चा खेतों में रह गया है हमें उसकी जान बचानी चाहिए वरना इस जाड़े के मौसम में शायद वह रात भर में मर जाएगा…

हम लोग उस बकरी के बच्चे के पास पहुंचे और उसे अपने साथ ले लिया और फिर से उसी जामुन के पेड़ की तरफ चलना शुरू कर दिया, हम लोग रास्ते में कोई रस्सी ढूंढते हुए जा रहे थे ताकि इस बकरी के बच्चे को अपने साथ बांधकर रख सके, हमको रास्ते में एक रस्सी मिल गई हमने उसी से उस बकरी के बच्चे को बांधा, हमारे एक दोस्त ने रस्सी अपने हाथ में पकड़ी, और तब तक हम लोग उस जामुन के पेड़ के करीब पहुंच चुके थे..

हम सब दोस्त जामुन के पेड़ से थोड़ी दूर हो करके बैठ गए और उस जामुन के पेड़ को बहुत गौर से देखने लगे, अचानक हमें ऐसा लगा कि पीछे जंगल में कोई बच्चा रो रहा है, हम लोग बहुत डर गए कि इतनी रात में किसका बच्चा जंगल में हो सकता है हमारे एक दोस्त ने कहा कि इस आवाज पर ध्यान मत दो अगर हम इस आवाज के पीछे जाएंगे तो अपनी जान से हाथ धोना पड़ेगा..

हम सारे दोस्तों की नजर उस जामुन के पेड़ पर जमी हुई थी_ 10-15 मिनट के बाद एक लाल रंग की रोशनी जामुन के पेड़ पर नजर आई, वह रोशनी इतनी तेज थी कि हम उसको बता नहीं सकते, वह रोशनी कभी पेड़ पर जाती और कभी पेड़ से नीचे आती, हम लोगों का डर के मारे बुरा हाल हो रहा था..

अचानक हमारे पीछे से बहुत डरावनी आवाजे आना शुरू हो गई, हमारे कुछ दोस्तों ने वहां से भागने की कोशिश की लेकिन हमने उन्हें रोक लिया कि यह हमारे लिए खतरे का काम हो सकता है, फिर सारे दोस्तों ने यह महसूस किया कि जामुन के पेड़ की वो लाल रोशनी धीरे-धीरे हमारी तरफ बढ़ रही है..

जब सब ने यह डरावना मंजर देखा तो हम लोगों ने वहां से भागने ही में अपनी भलाई समझी, हम लोग बहुत तेजी से वहां से भाग रहे थे और हमारे पीछे से अजीब अजीब खौफनाक आवाजें आ रही थी, हमको बस यही लग रहा था जैसे वो आवाजें बिल्कुल हमारे पास से आ रही हो, हम इतना डर गए थे कि पीछे मुड़ने की भी हिम्मत नहीं हुई, हमें लग रहा था कि शायद ये हमारी जिंदगी की आखिरी रात है..

हम दौड़ते रहे यहां तक कि गांव में पहुंचकर हमने सांस ली… गांव में पहुंचकर हमारे एक दोस्त ने दूसरे से कहा : यार वह बकरी का बच्चा कहाँ गया..? जिस दोस्त ने बकरी का बच्चा पकड़ रखा था उसने अपने हाथ में देखा तो उसके हाथ में सिर्फ रस्सी थी बकरी का बच्चा गायब था..

हम लोग बड़ा हैरान हुए कि जब हम भागे थे तो बकरी का बच्चा भी अपने साथ लेकर भागे थे तो आखिर ये बकरी का बच्चा कहां गायब हो गया…?

जब सुबह हुई तो नदीम और संदीप के अलावा कोई वहां जाने को तैयार नहीं था..
वे दोनों खेत में उसी जगह पर गए तो जामुन के पेड़ के पास उन्होंने बकरी के बच्चे को मरा हुआ पाया, केवल हड्डियाँ दिखाई दे रही थीं और बच्चे पर मांस का कोई निशान नहीं था, ऐसा लगता था जैसे किसी ने उसको नोच नोच के खाया है…

वे दोनों समझ गए थे कि रात को जो कुछ हुआ था वो उनका भ्रम नहीं था बल्कि उस पेड़ पर जरूर ऐसा कुछ था जिसने उस बकरी के बच्चे को मार दिया था…

Horror Story in Hindi



Read more :-

Leave a Comment