काला जादू और नफरत की आग ☠️| jadu horror story in hindi

Rate this post

horror story in hindi

  मुझे 7 जनवरी की तारीख जब भी आती है तो मेरी रूह कांप जाती है_ ये वो दिन है जिस दिन मेरी सारी दुनिया वीरान हो गई थी.. ये आज से 11 साल पुरानी बात है जब एक रोज हमारे घर हमारी फूफी आई हुई थीं, उन्होंने इतरा इतरा कर कहना शुरू कर दिया कि मेरी बेटी ” अलीजा ” का रिश्ता एक बहुत बड़े बिजनेसमैन लड़के से हो गया है…

ये सुनकर अब्बू जी भी बहुत खुश हुएं और उन्हें मुबारकबाद देने लगें, हमारी फूफी हम लोगों से बहुत नफरत करती थीं और हमेशा हम लोगों को नीचा दिखाने की ताक में लगी रहती थीं…

हमारे एक छोटे चाचा थें “अनवर चाचा” , वो बहुत बड़े बिजनेसमैन आदमी थें उनका बड़ा लड़का ” जीशान ” आज 7 सालों के बाद कनाडा से लखनऊ वापस आ रहा था_ इस खुशी में अनवर चाचा ने एक बहुत बड़ी पार्टी रखी थी.. शाम को हम सारे घर वाले उनके घर जाने के लिए तैयार हो रहें थें.. मैं भी जब अपने कमरे से तैयार होकर बाहर निकली तो मेरी छोटी बहन ने मुझे देखते हुए कहा : आपा जान ! इस काले सूट में आप बहुत ज्यादा खूबसूरत लग रही हो.. मैंने उसे मुस्कुराते हुए डांटा : चल झूठी, चलो अब जल्दी से चलते हैं…

पार्टी में मैंने महसूस किया कि ” जीशान ” की नजर मेरे ऊपर है _ वो बार-बार मेरी तरफ मुस्कुरा मुस्कुरा कर देख रहा था लेकिन मैं उसे नजर अंदाज कर रही थी.. रात ही में हम लोग पार्टी से वापस आ गएं…

अगले दिन जब मैं कॉलेज से वापस घर आई तो अनवर चाचा जीशान के साथ मेरे घर आए हुए थे, उनके जाने के बाद मुझे मालूम हुआ कि वो मेरा रिश्ता लेकर आए थें और अब्बू जी ने भी मेरा रिश्ता जीशान के साथ कर दिया है और अगले महीने हमारी शादी भी है…

लेकिन अगले दिन फूफी हमारे घर आकर बहुत जोर जोर से चिल्लाने लगी कि तुम लोगों को मेरी ही बेटी का घर उजाड़ने को मिला था तुम्हें दुनिया में कोई और घराना नहीं मिल सका था.. हम समझ नहीं पा रहे थें कि फूफी क्या कहना चाहती है..?, अब्बू जी ने जब बहुत गुस्से से उनसे पूछा कि साफ-साफ बताओ कहना क्या चाहती हो..? तो उन्होंने बताया कि जहांँ से आप लोगों ने रिश्ता लगाया है मेरी बेटी अलीजा़ का भी रिश्ता उसी लड़के से लगा था_ लेकिन तुम्हारी वजह से उन लोगों ने मेरी बेटी से रिश्ता तोड़ दिया है…

ये सुनकर पिताजी ने फौरन अनवर चाचा को फोन करके घर बुलाया और उनसे इस बात की हकीकत मालूम की, तो उन्होंने बताया कि ये औरत झूठ बोल रही है हमने इसकी लड़की के साथ रिश्ता जोड़ा ही नहीं था…

फूफी उस वक्त तो शर्मिंदा होकर वापस चली गईं लेकिन उनके दिल में नफरत बैठ चुकी थी और फिर उन्होंने मेरे साथ वो किया जिसकी मुझे कभी उम्मीद भी नहीं थी..

अगले महीने मेरी जीशान के साथ शादी हो गई और हम दोनों खुशियों भरी जिंदगी गुजारने लगें, लेकिन एक रोज अचानक मेरे ससुर की मौत हो गई_ डॉक्टरों ने बताया कि इनके अंदर कोई भी बीमारी नहीं थी लेकिन पता नहीं कैसे अचानक इनके दिल की धड़कन रुक गई और उसी से इनकी मौत हो गई…

ससुर की मौत का सदमा मुझे बहुत ज्यादा हुआ था क्योंकि वो मेरे छोटे चाचा थे और मेरा बहुत ख्याल रखते थें, अभी इस बात को एक हफ्ता भी नहीं गुज़रा था कि मेरी सास एक दिन बाथरूम में नहाने के लिए गईं और बहुत देर तक बाहर नहीं निकली, मैं घबरा कर बाथरूम के पास पहुंची और दरवाजा खटखटाने लगी लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं आ रहा था…

मैंने जाकर जीशान को बताया तो उसने भी आकर दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई जवाब ना मिला तो उसने वो दरवाजा तोड़ दिया_ अंदर देखते ही मेरे होश उड़ गएं, जीशान बहुत जोर जोर से रोने लगा_ मेरी सासू मांँ ने अपने ही हाथों से अपना गला दबा लिया था उनके बाल नलके में फंसे हुए थे और वो मर चुकी थीं…

जीशान बहुत परेशान था उसे कोई होश ना था, इसी तरह 2 महीने गुजर गएं_ अब जीशान ही ने सारा बिजनेस संभाल रखा था_ वो कनाडा से इकोनामी की पढ़ाई करके वापस आया था इसलिए उसने अपने बिजनेस को बहुत तरक्की दी…

उसने एक बड़ी फैक्ट्री बनवाई, उस फैक्ट्री को बनवाने में उसने बहुत सारा पैसा खर्च कर दिया था_ लेकिन अचानक ही हमारे ऊपर एक बहुत बड़ी मुसीबत आ गई कि एक दिन हमारे घर के एक नौकर ने आकर बताया कि मालिक जी ! फैक्ट्री अचानक जमीन के अंदर समा गई है और बहुत से मजदूर भी मारे गए हैं.. ये सुनकर जीशान के तो होश उड़ गए, उसने फैक्ट्री के पास जाकर देखा तो वहांँ कुछ नहीं बचा था सब कुछ बर्बाद हो चुका था…

हमारा बिज़नेस घाटे में जाने लगा, यहांँ तक कि वह दिन आ गया कि हमें अपना घर तक बेचना पड़ा.. हम एक किराए के घर पर रहने लगें…

मुसीबतों ने इस घर में भी हमारा पीछा नहीं छोड़ा था, एक रात मैं लेटी सो रही थी कि तभी अचानक मुझे घर में किसी के बहुत तेज चीखने की आवाज सुनाई दी मैं उठकर बाहर गई तो मुझे ऐसा लगा कि किचन के अंदर कोई मौजूद है..? मैं चलती हुई किचन की तरफ गई तो अंदर देखकर मेरे होश उड़ गएं_ एक बहुत ही बड़ा काला बिल्ला अंदर बैठा गोश्त नोच नोचकर खा रहा था_ तभी मुझे अपने पीछे किसी की आहट महसूस हुई, मैंने पीछे मुड़कर देखा तो एक उड़ता हुआ साया मुझे अपनी तरफ बढ़ता नजर आया, उसे देखकर मैं बेहोश होकर गिर पड़ी….

जब मुझे होश आया तो ज़ीशान मेरे पास बैठा हुआ था, मैंने उसे सबकुछ बता दिया, वो भी बहुत परेशान हुआ और फिर उसने मेरे बालों में हाथ फेरते हुए कहा : जो़या ! मुझे तो लगता है कि हम लोगों पर किसी ने जादू- टोना करवा दिया है ये उसी का असर हमें नजर आता है, हम कल चलकर किसी नेक बाबा को अपनी परेशानी बताएंगे… ज़ीशान की बात पर मैंने ” हांँ ” करते हुए सर हिला दिया…

जब उस रात हम लेटे सो रहे थें तो रात के 3:00 बजे घर के बाहर कोई ज़ीशान को पुकारने लगा_ वो जो भी था बहुत जोर जोर से दरवाजा खटखटा रहा था.. हम दोनों उठ बैठें, ज़ीशान ने कहा : तुम रुको मैं जाकर देखता हूंँ…

ज़ीशान ने जाकर दरवाजा खोला और तभी एक बहुत तेज किसी चीज के गिरने की आवाज आई और फिर थोड़ी ही देर के बाद लोगों का शोर सुनाई देने लगा.. मैं उठकर दरवाजे के पास गई तो क्या देखती हूंँ कि एक बिजली का खंबा जमीन पर गिरा पड़ा है और किसी इंसान का जिस्म उसमें चिपक कर जल रहा है, उस इंसान को मैंने है उसकी घड़ी से पहचाना था ये वही घड़ी थी जो मैंने ज़ीशान को उसकी बर्थडे डे पार्टी पर दी थी..

ज़ीशान की ये हालत देख मैं उसी जगह बेहोश होकर गिर पड़ी, कई महीनों तक मुझे कुछ होश नहीं था_ मेरा ज़ीशान मुझे छोड़कर जा चुका था, मैं अपने मां-बाप के घर आ गई थी_ जब मेरी हालत कुछ संभली तो मैंने देखा ज़ीशान का छोटा भाई ” काशान ” मेरे पास बैठा हुआ रो रहा था और कह रहा था : भाभी ! पता नहीं हमारे घर को किसकी नजर लग गई है सबकुछ बर्बाद हो गया है…” मैंने काशान से कहा कि तुम्हारे लिए यहां रुकना ठीक नहीं है क्योंकि हम लोगों पर किसी ने जादू करवा दिया था ये उसी का असर है_ इसलिए तुम कनाडा लौट जाओ…

काशान फिर से कनाडा चला गया और वहांँ से मुझे पैसे भेजता रहा, उसने कहा : भाभी ! मैं चाहता हूंँ कि आप एक चाइल्ड होम खोलें जिसमें छोटे यतीम बच्चों को मुफ्त में खाना मिल सके और उनकी देखभाल करने वाली दाइयां भी मौजूद हों…

काशान की बात पर मैंने एक चाइल्ड होम खोला_ मुझे उसमें बहुत तरक्की मिली और हर तरफ मेरी नेकी का चर्चा होने लगा.. लेकिन फिर से एक दिन मेरे ऊपर एक मुसीबत आ पड़ी_ मैं रात में लेटी सो रही थी कि अचानक मेरे सर में बहुत तेज दर्द होने लगा, पिताजी ने डॉक्टरों से चेकअप करवाया लेकिन कुछ ना निकला…

मेरी एक दूर की बुआ ने आकर पिताजी से कहा : भाई जान ! आप इस बच्ची को किसी बाबा को दिखा दें मुझे तो इस पर जादू टोने का असर लगता है_ उन्होंने बताया कि मैं एक बहुत नेक बाबा को जानती हूंँ, लोग उन्हें पागल समझते हैं लेकिन मैं समझती हूंँ वो बहुत बड़े लोगों में से हैं और लोगों से दूर रहने की वजह से ऐसे बने हुए हैं…

अगले दिन हम लोग उन बाबा की झोपड़ी में पहुंच गएं_ वहांँ बहुत गंदगी फैली हुई थी_ मेरी मम्मी ने वहांँ साफ- सफाई की और फिर हम लोग उन बाबा के सामने जाकर बैठ गएं, वो घर के एक कोने में खामोश बैठे हुए थें..

वो मुझे थोड़ी देर तक देखते रहें और फिर कहा : बेटी ! तुझे दो माँ- बेटी की नफ़रत ने खा डाला है_ उन्होंने ही जादू करवाकर तुम्हारे सास- ससुर और तुम्हारे पति को भी मार डाला_ तुम्हारा बिजनेस भी उसी जादू की वजह से बर्बाद होता चला गया…

हम समझ गए थें कि ये सब हमारी फूफी ही ने करवाया है… फिर उन बाबा ने तीन नींबू मंगवाएं और उनमें से एक मेरे सर पर काटकर जैसे ही जमीन पर फेका तो वो खून में बदल गया.. उन्होंने अगला नींबू मेरे सर पर काटकर उसके दो टुकड़े किएं उसे जमीन पर फेंका तो उसमें से एक नींबू तो खून में बदल गया लेकिन दूसरा हरा ही रहा…

फिर उन्होने तीसरा नींबू भी काटा और उसे जमीन पर फेंका तो वो दोनों सही सलामत थें, उन्होंने मेरे पिताजी से कहा : आपकी बच्ची बिल्कुल ठीक हो चुकी है आप इसे ले जा सकते हैं अगर आप चाहें तो मैं उस जादू का पलटवार उन्हीं औरतों पर कर दूं, फिर उनकी भी वही हालत होगी जो आपकी बच्ची की हुई थी.. लेकिन मेरे पिताजी ने कहा : नहीं, हम किसी का बुरा नहीं चाहतें हमारी बच्ची ठीक हो गई बस यहीं मेरे लिए काफी है..

मेरी फूफी ने शाज़िया की शादी बहुत अमीर घराने में की थी, लेकिन उसका पति शराबी- जुवारीं था उसने कुछ ही दिनों में शाज़िया को तलाक दे दी और अब वो अपनी मां ही के साथ रहती है…

इन दोनों मां बेटियों को उनके किए की सजा इसी दुनिया में मिल गई थी_ वो इस तरह की एक दिन शाज़िया किचन में कुछ खाना पका रही थी और फिर गैस बंद करना भूल गई_ रात भर गैस खुली रही, सुबह उठकर जैसे ही उसने किचन में जाकर माचिस जलाई तो सारे घर में आग लग गई और ये दोनों मांँ बेटी जलकर खत्म हो गएं…

आज मैं एक बहुत बड़ा चाइल्ड होम चलाती हूंँ, लेकिन ज़ीशान की याद आज भी मुझे हर वक्त सताती है, उसकी मोहब्बत में मैंने दोबारा शादी नहीं की_ उसकी याद ही को एक सहारा बनाकर अपनी जिंदगी गुज़ार रहीं हूँ…

काला जादू और नफरत की आग ☠️| jadu horror story in hindi



Read more :-

Leave a Comment