एक लड़की को जिन्न से मुहब्बत हो गई ❤️ |jinn Horror Story in Hindi

4.8/5 - (12 votes)

एक लड़की को जिन्न से मुहब्बत हो गई ❤️ |jinn Horror Story in Hindi

jinn Horror Story

एक रात बैठा मैं अपना कुछ काम कर रहा था, मेरे एक पुराने दोस्त का फोन आया उसने कहा यार मुझे तुम्हारी बहुत जरूरत है, तुम जादू टोना और अमल वगैरा करते हो मेरी भतीजी बहुत बीमार है मुझे तुमसे मिलना है…

मैंने कहा ठीक है तुम सुबह आ जाओ, उसने कहा : नहीं भाई, मुझे इसी वक्त तुमसे मिलना है, मैंने घड़ी की तरफ देखा रात के कुछ 10:30 बज रहे थे, मैंने हैरानी से उससे कहा : अभी..?, उसने जवाब दिया : जी हांँ, मैंने थोड़ा सोच कर उससे कहा : ठीक है यार, तुम्हारी बात है, तुम आ सकते हो…

वह कार लेकर के आया, और मैं रात ही में उसकी कार में बैठकर उसके घर की तरफ रवाना हो गया, थोड़ी देर के बाद हम एक बड़ी कोठी के गेट पर थे, हार्न की आवाज सुनकर दरवाजा खोला गया, एक बूढ़े बाबा बाहर निकले और हमें अंदर ले कर गए…

short horror story in hindi

मुझे देखकर घर के सारे लोग जमा हो गए, चाय-नाश्ता लाया गया, नाश्ते के दौरान उन बूढ़े बाबा ने बताया : बेटा ! मेरी पोती जो कि बहुत ज्यादा अकलमंद थी, बचपन से क्लास में हमेशा फर्स्ट डिवीजन आती थी उसने खुद को एक कमरे में कैद कर लिया है, ना किसी से बात करती है, कोई खाना देता है तो खा लेती है वरना कुछ नहीं, हम लोग उसको देखकर बहुत परेशान हैं..

अभी 2 साल पहले की बात है कि वह घर में बहुत ज्यादा हंसती खेलती थी, हर एक से बात करती थी, लेकिन कुछ दिनों के बाद हमें लगने लगा कि वह कुछ खामोश सी रहने लगी है..

उस बच्ची के बाप ने कहा कि हमने इसकी अम्मी से कहा था कि तुम पूछो कि इसको क्या हो गया है इतना खामोश क्यों रहती है..? जब उससे पूछा गया तो वह सिर्फ एक ही जवाब देती : ” कुछ नहीं, मैं ठीक हूंँ”…

उसने खुद को एक कमरे में कैद कर लिया है रात में जब भी कोई उसके कमरे में जाता है तो उसे जागता हुआ पाता है उसने स्कूल जाना भी बंद कर दिया है, हमने उसे बहुत से डॉक्टरों को दिखाया लेकिन इलाज से कोई फायदा नहीं हुआ, इसलिए बहुत परेशान हो करके आज आपको बुलाया है अगर आप हमारी बच्ची को सही कर दें तो आपका हमारी जिंदगी पर बहुत बड़ा एहसान होगा…लड़की की मांँ ने रोते हुए कहा,

हम जब भी उसे कहते हैं कि चलो हम तुम को डॉक्टर के पास ले चलेंगे तो वह फौरन चलने के लिए तैयार हो जाती है, लेकिन आज तक इलाज से कोई फायदा नहीं हुआ, इसी तरह 2 साल गुजर गए हैं और अभी भी उसकी यही हालत है…

village horror story in hindi,

अब हमको लगने लगा है कि उसके ऊपर कुछ भूतों जिन्नातों का असर है क्योंकि जब भी उसके कमरे में कोई जाता है तो उसको सामने कपड़े की अलमारी की तरफ देख कर हंसता हुआ पाता है, मगर आने वाले को देखकर वह खामोश हो जाती है…

बहुत से लोगों ने आकर इसका जादू और ताबीज से इलाज किया मगर वो सही नहीं हुई, जो भी आता है वह बताता है कि इसके ऊपर कुछ जादू का असर है.. अब जब भी उसके कमरे में कोई जाता है तो उसे घुटनों में मुंह छुपाए आंसू बहाते हुए ही देखता है…

मैंने एक कागज कलम मंगवाया और उस बच्ची का हिसाब निकाला तो ना उसके ऊपर कोई बीमारी थी और ना ही जादू टोने का कोई असर था, बल्कि उसके ऊपर कुछ जिन्नातों का असर लग रहा था,

मैंने घरवालों से कहा क्या आप लोग मुझे बच्ची के कमरे तक ले जा सकते हैं, बच्ची के बाप और दादा मुझे साथ लेकर बच्ची के कमरे पहुंचे, उसके बाप ने कमरे के अंदर दाखिल होकर मुझे अंदर आने को कहा मैं अंदर आ गया..

मेरी नजर बेड पर घुटनों में मुंह छुपाए बैठी लड़की पर पड़ी मैंने उसको सलाम किया तो लड़की ने मुंह ऊपर उठाकर मेरी तरफ देख कर सलाम का जवाब दिया, और वो अदब से सीधे हो करके बैठ गई, मैंने सोफे पर बैठते हुए उससे कहा : बेटा ! कैसी हो…? मैं ठीक हूं.. उसने जवाब दिया,

मैंने उससे कहा कि मुझे यहां इसलिए बुलाया गया है कि मैं तुमको बता सकूं कि तुमको कुछ बीमारी लग गई है, 2 साल से तुम अपने घर वालों से अलग रहती हो, इसलिए तुम्हारे घर वाले भी बहुत परेशान हैं, मुझे तो लगता है कि तुम खुद भी परेशान हो..

जब मैंने यह बातें कहीं तो उसने जवाब दिया : अंकल ! आप नहीं जान सकते कि मैं क्यों परेशान हूंँ और ना ही आप मेरी उदासी की वजह जान सकते हैं..

horror story in hindi written

मैंने उससे कहा कि अगर मैं तुमको तुम्हारी उदासी की वजह थोड़ी सी बता दूंँ तो क्या तुम मुझे फिर अपना पूरा हाल बताओगी…? उसने कहा : ठीक है, जी मैं बता दूंगी, उस लड़की के बाप और दादा खामोश बैठे हम लोगों की बातें सुन रहे थे..

मैंने कहा : बेटा ! आपको ना तो कोई बीमारी है और ना ही किसी जादू का असर है, बल्कि असल बात तो यह है कि तुमने ऐसी कोई आत्मा या जिन्नात देख लिया है जिसको तुम भुला नहीं पा रही हो.. मेरी बात सुनते ही वह लड़की चौंक गई और रोने लगी मैंने उससे कहा : बेटा ! मैं उसी वक्त तुम्हारे लिए कुछ कर सकता हूंँ जब तुम मुझे अपनी सारी बातें बताओगी..

लड़की ने बताया : 1 दिन मैं स्कूल की छुट्टी के बाद घर वापस आई तो घरवालों से मिलकर मैं अपने कमरे में आ गई और अपना सामान रखने लगी, अचानक मुझे कमरे में बहुत प्यारी और बहुत अच्छी खुशबू महसूस हुई, मैं हैरान हो गई थी कि खुशबू कहांँ से आ रही है…? फिर मैंने सोचा कि शायद बाहर किसी ने कोई परफ्यूम लगाया होगा उसी की खुशबू मेरे कमरे में आ रही है, थोड़ी देर के बाद वह खुशबू आना बंद हो गई मैं अपने बेड पर लेट गई और सोने की कोशिश करने लगी,

अचानक मुझे ऐसा महसूस हुआ कमरे में कोई है जो मुझे देख रहा है, मैंने आंखें खोल कर देखी लेकिन वहांँ तो कोई नहीं था मैं फिर से सो गई शाम को अम्मी ने मुझे उठाया मैं फ्रेश होकर कमरे के बाहर निकली, अपने भाई से पूछा : तुमने आज कौन सा परफ्यूम लगाया था..? उसने कहा : मैंने तो कोई परफ्यूम नहीं लगाया, मैंने दादा जी से पूछा, उन्होंने भी कहा कि नहीं बेटा, मैंने कोई परफ्यूम नहीं लगाया, सब ने इंकार कर दिया…

रात का खाना खाकर मैं जल्दी से अपने कमरे में आ गई और मैंने अपनी अलमारी खोली और अपने कपड़े बैग से निकालकर अलमारी में रखने लगी, अचानक मुझे दोबारा फिर से वही खुशबू कमरे में फैली हुई महसूस हुई मैं हैरान थी कि आखिर ये खुशबू कहां से आ रही है…? खुशबू इतनी अच्छी थी कि मैं बता नहीं सकती मैं अपने बेड पर बैठ गई और आराम आराम से नाक से सांस लेने लगी, मेरा दिल चाह रहा था कि मैं इस खुशबू को अपने अंदर बसा लूँ, थोड़ी देर के बाद खुशबू आना बंद हो गई, मैं उठी है और मैंने कपड़े अलमारी में दोबारा रखना शुरू कर दिये..

real horror story in hindi

कपड़े रख कर मैं जब वापस मुड़ी तो मेरी नजर बेड पर पड़ी, उस पर एक लिफाफा पड़ा हुआ था मैंने वह लिफाफा उठाया उसके अंदर एक कागज था जिसमें “सलाम” लिखा हुआ था, मैं हैरान थी कि यह कहांँ से आया..? मैंने उसे कमरे में रखे डस्टबिन में फेंक दिया कुछ देर अपने कामों में लगी रही, और फिर सो गई…

रात के तकरीबन 1:30 बजे मेरी आंख खुली, मैंने करवट बदली, मेरा हाथ एक कागज पर पड़ा, मैंने उठकर लाइट जलाई, कागज खोला उस पर लिखा था कि “तुमने मेरे सलाम का जवाब क्यों नहीं दिया और उसे बेकार समझकर डस्टबिन में डाल दिया..?

यह पढ़कर मैं परेशान हो गई क्योंकि मुझे अच्छी तरह याद था कि इस दौरान मेरे कमरे में कोई नहीं आया था, अचानक मुझे वह खुशबू फिर से महसूस होने लगी, मेरे लिए ये सब कुछ बहुत अजीब सा था, मेरी नजर अपने पैरों की तरफ पड़ी तो वहां पर एक कागज पड़ा हुआ था, मैंने उसको उठाया उसमें लिखा था

” ये सारी चीजें तुम को परेशान कर रही हैं मैं तुमको परेशान करना नहीं चाहता बल्कि मैं तुमसे बात करना चाहता हूं मुझे तुम बहुत अच्छी लगती हो “…

मेरी जगह कोई और होता तो शायद कब का कमरे से डर कर भाग चुका होता, मगर उस खुशबू ने मेरे दिल- दिमाग को अपने काबू में कर लिया था, मुझे वह खुशबू बहुत अच्छी लग रही थी, मुझे जरा भी डर नहीं लग रहा था.. मैंने कहा : “आप कौन हैं..? इतना कहना था कि मेरी गोद में एक कागज आकर गिरा उस पर लिखा हुआ था : “तुम्हारा गुलाम “.. मैंने कहा : मेरे सामने आओ, कागज मेरी झोली में आकर गिरा जिस पर लिखा था : ” नहीं आ सकता”.. मेरी उसकी बात इसी तरह पूरी रात होती रही…

उसका कहना था कि वो एक जिन्न है, उसे मेरी आंखें और बाल बहुत अच्छे लगते हैं, जब सुबह हुई तो वो मुझे ये कहकर चला गया कि मैं जल्द ही वापस आऊंगा, जब वह चला गया तो मुझे बहुत अकेलापन महसूस होने लगा, फिर वो 2 दिनों तक नहीं आया मैं उन 2 दिनों में बहुत ज्यादा बेचैन और परेशान रही, मुझे कुछ अच्छा नहीं लगता था…

2 दिन के बाद फिर से मेरे कमरे में खुशबू फैली, मुझे ऐसा लगा जैसे मुझे सारी दुनिया की खुशियां मिल गई हो, मैं उससे बात करती मेरे हर सवाल का जवाब मुझे कागज में लिखा हुआ मिलता, मैं उससे एक ही जिद करती रहती कि मुझे आपको देखना है, और इस पर मुझे हमेशा कागज में एक ही जवाब मिलता : “ऐसा नहीं हो सकता “…

diwali horror story in hindi

जितनी देर वो कमरे में रहते मैं कमरे को बंद रखती थी और उनसे बातें किया करती थी, मुझे उनसे बात करके बहुत अच्छा लगता था जब वह चले जाते तो उन्हीं की बातों को याद कर करके खुश हुआ करती थी, जब भी उनका कोई कागज मुझे मिलता तो उससे पहले वाला कागज खुद ब खुद गायब हो जाता था,

एक दिन मैंने उनसे कहा : “आप को मेरी कसम है आप मेरे सामने आइये”.. इस पर मुझे जवाब मिला कि अगर मैंने ऐसा किया तो हमारे सामने दो मुश्किलें आ जाएंगी, पहली ये कि मेरे खानदान वालों को पता लग जाएगा कि मैं तुम्हारे सामने आया हूंँ तो फिर वो मुझे तुमसे दोबारा मिलने नहीं देंगे, और दूसरी मुश्किल ये होगी कि अगर तुमने मुझे देख लिया तो फिर कभी जिंदगी में तुम मुझे भुला नहीं पाओगी..

यह जवाब मैंने पढ़ा, लेकिन मैं समझ ना सकी और मैं अपनी जिद पर अड़ी रही कि मुझे आपको देखना है, यहांँ तक कि हार मानते हुए उन्होंने मुझसे कहा कि तुम अपनी आंखें बंद करो.. मैंने खुशी से आंखें बंद कर ली, मेरे कानों में एक धीमी सी आवाज आई : “आंखें खोलो “.. मैंने धड़कते दिल के साथ आंखें खोली, मेरी आंखें खुली की खुली रह गई, मेरा दिल चाह रहा था कि वक्त उसी जगह रुक जाए और यह समय हमेशा के लिए कैद हो जाए, इतनी खूबसूरत शक्ल मैंने जिंदगी में कभी नहीं देखी थी..

लेकिन उसी वक्त कमरे में कुछ अजीब सा होने लगा, मेरे कमरे में धुआ सा छाने लगा था, मैंने अपने उस जिन्न दोस्त के चेहरे पर एक परेशानी सी देखी, और फिर अचानक वो मेरी नजरों से गायब हो गए, मैं परेशानी से हैरान होकर इधर-उधर देखने लगी, मगर वह जा चुके थे और कमरे का धुआं भी सब गायब हो चुका था…

इस हादसे के कई दिनों बाद तक मेरा उनसे कोई राब्ता ना हो सका, मैं बहुत परेशान थी ऐसा लग रहा था जैसे मानो मेरी दुनिया लुट गई हो, मैंने खुद को एक कमरे में बिल्कुल बंद कर लिया, यह सब कुछ मेरी नादानी की वजह से हुआ था, मैं रोती रहती थी मैंने घरवालों को स्कूल जाने से मना कर दिया था…

कई हफ्ते इसी तरह गुजर गए एक रात मैं कमरे में लेटी रो रही थी कि अचानक मुझे फिर से अपने कमरे में वही खुशबू महसूस हुई मैं खुशी के मारे उठ कर बैठ गई, मैं आंखों के आंसुओं के साथ उनका नाम लेने लगी लेकिन मुझे कोई जवाब नहीं मिला,

Real Horror story

मेरी गोद में एक कागज आकर गिरा, मैंने जल्दी से उसे खोला, उसमें लिखा हुआ था : ” मैंने तुमसे कहा था कि मेरे सामने आने से मेरे लिए परेशानियां बढ़ जाएंगी, मेरे खानदान वालों को उसी वक्त मेरी इस हरकत का पता चल गया था, अब फैसला यह हुआ है कि मैं कभी तुमसे नहीं मिल सकता और अगर मैंने तुमसे मिलने की कोशिश की तो मेरे साथ तुमको भी सजा दी जाएगी और मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से तुम को कोई भी तकलीफ हो.. मेरी प्यारी सी गुड़िया ! तुम कभी परेशान ना होना, मैं तुमको अपनी आखिरी सांस तक याद रखूंगा, लेकिन तुम मुझे भूल जाना और मेरी खुशबू मेरे इस कागज से हमेशा आती रहेगी…

इस कागज को पढ़ने के बाद मेरी दुनिया वीरान हो गई थी, मेरे घरवाले मेरा इलाज करवाते हैं लेकिन मुझे कुछ अच्छा नहीं लगता है, बहुत से लोग आए सब ने अपनी अपनी बातें की आप पहले इंसान हैं जिन्होंने सच बताया, इतना कहकर वो लड़की खामोश हो गई,

लड़की के बाप दादा और मैं ये सारी बातें बहुत खामोशी से सुन रहे थे, उसके चुप होने के बाद लड़की के बाप ने आगे बढ़कर अपनी बच्ची को गले से लगा लिया..

मैंने उस लड़की से वह कागज लाने को कहा जिसमें उस जिन्न ने उसको अपना पैगाम लिख कर दिया था, वह लड़की उठी और अलमारी से एक लिपटा हुआ कपड़ा निकाला, कपड़ा खोलकर उसमें से एक कागज निकाला और मेरे सामने बढ़ा दिया, पूरा कमरा एक अजीब सी खुशबू से महक उठा मैं क्या बताऊं वह कितनी खूबसूरत और अच्छी खुशबू थी जो उस कागज से आ रही थी..

मैंने वह कागज खोलकर पढ़ा, उसमें वही सब कुछ लिखा हुआ था जो उस लड़की ने अभी हमको बताया था, मैंने वह कागज लपेट कर उस लड़की को वापस दे दिया और फिर उस लड़की से कहा कि बेटा इस मसले का एक ही हल है कि आप इन तमाम चीजों को बचपन की एक हसीन याद समझ कर भूल जाओ और फिर से अपनी उसी नॉर्मल जिंदगी की तरफ वापस आ जाओ,

उसके कुछ दिन बाद तक मैंने उस बच्ची का जादू ताबीज से इलाज किया, और वो धीरे-धीरे ठीक होने लगी, कुछ दिनों बाद मुझे उस बच्ची की कॉल आई थी वह मुझे बता रही थी कि अंकल आज मैं अपने अब्बू के साथ नहर पर गई थी और मैंने वह कागज नहर में बहा दिया है,

Ghost story in real life in hindi

यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई, अब उस लड़की की शादी हो चुकी है और वह अपने पति के साथ बहुत खुशी की जिंदगी गुजार रही है, लेकिन मैं आपको एक बात बताता जाऊं कि आज तक मैं वह खुशबू नहीं भूल पाया हूंँ और शायद मैं कभी भूल भी नहीं पाऊंगा…

real horror stories in hindi



Read more :-

Leave a Comment